Tag: अभिषेक

बादलों को चखने का समयबादलों को चखने का समय

जब बारिश में भीगना चुनता हूँ बेपरवाह हो जाता हूँ नहीं देखता तब कि कितना भरा है बादल कितनी तीखी हैं बौछारें कितनी तेज़ है हवा। अभिषेक की धार देखने के लिए ध्यानमग्न हो जाती हैं आँखें मुँह अपने विस्तार ...